Article Moral & Spiritual

बरसात हो सवालों की!

– दिलीप वसंत बेतकेकर “बिल्ली की आँखें रात्रि के समय क्यों चमकती हैं, पापा!” राजू ने समाचारपत्र पढ़ते कुर्सी पर बैठे हुए अपने पिताजी से पूछा! पिताजी ने समाचारपत्र पर झुका अपना सिर थोड़ा सा ऊपर उठाते हुए, राजू की ओर आँखें गड़ाते हुए प्रति प्रश्न किया – “ये प्रश्न परीक्षा के लिये है क्या?” […]