Article

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-5 (ज्ञानार्जन के साधन: कर्मेन्द्रियाँ)

– वासुदेव प्रजापति अब तक चारों अंकों में ज्ञान व अज्ञान कों समझाया गया है, ज्ञान की महिमा बतलाई गयी है तथा ज्ञान के विविध स्वरूपों से परिचित करवाया गया है। आज के अंक में हम ज्ञानार्जन एवं उसके साधनों की जानकारी प्राप्त करेंगे। ज्ञानार्जन का अर्थ : ‘ज्ञानार्जन’ शब्द, दो शब्दों के मेल से बना […]

Article

NOT A MERE REFORMATION BUT A SUMMARY TRANSFORMATION NEEDED IN OUR EDUCATION SYSTEM

– D.RAMAKRISHNA RAO Indian society had a glorious tradition and known for many valuable and path breaking contributions in the field of education. Vedic to ancient system of education was remarkably effective in addressing the needs of the society and nation. Dr. A.S. Altekar, an eminent historian from the Banaras Hindu University, in his study […]

Article

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-4 (ज्ञान के विविध रूप)

 – वासुदेव प्रजापति इससे पूर्व हमने ज्ञान का अर्थ जाना, ब्रह्म क्या है, यह भी जाना तथा ब्रह्म ज्ञान ही परमज्ञान है इसके साथ-साथ अज्ञान को भी समझा। हमने ज्ञान की पवितत्रता जैसी नई-नई जानकारियाँ प्राप्त की। आज हम ज्ञान के आयामों के अन्तर्गत मुख्य रूप से लौकिक ज्ञान को जानेंगे। ज्ञान के आयाम : अव्यक्त […]

Article

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-3 (ज्ञान की महिमा जाने)

 – वासुदेव प्रजापति पूर्व में हमने जाना कि परम चेतन तत्त्व ब्रह्म को जानना ही ज्ञान है। साथ में यह भी जाना कि ज्ञान अज्ञान से ढका हुआ है उस अज्ञान के कारण जीव मूढता को प्राप्त हो रहे हैं। स्वयं को कर्मों का कर्ता मान लेना ही मूढता है। परमात्मा ने मनुष्य मात्र को […]

Article

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-2 (आओ, अज्ञान को भी जानें)

– वासुदेव प्रजापति हम भारतवासी हैं। भारत हमारा देश है। क्या हमने कभी विचार किया कि हमारे देश का नाम भारत ही क्यों है? इस ‘भारत’ नाम का शाब्दिक अर्थ क्या है? भारत शब्द का अर्थ है, ‘भा’ में रत रहने वाला, भारत। और भा का अर्थ है, प्रकाश। भा का अर्थ है, ज्ञान । […]

Article

‘भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात’

-वासुदेव प्रजापति आपने भारतीय शिक्षा ग्रन्थमाला का संक्षिप्त परिचय प्राप्त किया है। संक्षिप्त परिचय से ही यह ध्यान में आया होगा कि यह ग्रन्थमाला ज्ञान का एक सागर है। हम इस सागर में गोता लगाकर ज्ञान का एक-एक मोती चुनकर लायेंगे, और इस नये स्तम्भ के माध्यम से आप तक पहुँचाएँगे। इस नये स्तम्भ का […]

Article

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-1 (जानें ‘ज्ञान’ को)

-वासुदेव प्रजापति ज्ञान को जानने से पूर्व एक बात और जाननी होगी, वह है भारतीय शब्दों का अंग्रेजी अनुवाद। अनेक भारतीय शब्दों के अंग्रेजी अनुवाद उसके पूर्ण तथा वास्तविक अर्थ को व्यक्त नहीं करते, जैसे- धर्म व राष्ट्र के लिए उपयोग किये जाने वाले शब्द ‘रिलिजन’ एवं ‘नेशन’ इनके अर्थ व्यक्त नहीं कर पाते। फलतः […]